सर पर खुला आकाश पांव ज़मीं पर, ठंडे पवन के मस्त झोंके ,तन पर गिरती टप-टप बारिश की बूँदों ने रोम-रोम को पुलकित किया और प्रेरित किया मनोरम दृश्य के कुछ सुंदर भावों को पन्नों पर अंकित करने का, वही आपके समक्ष लेखनी के माध्यम से अभिव्यक्त कर रही हूँ।Continue Reading

मैं और मेरी सोच मोदी जी के लिए क्यों?हमारा परिवार कोलकाता से है और वहाँ ज्योति बसु कम्युनिस्ट पार्टी से 23 साल तक पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे थे और तब वहाँ करीब-करीब सभी राजस्थानी इंदिरा गांधी जी को ही सपोर्ट करते थे, मेरे पापा भी कट्टर कांग्रेसी थे। तबContinue Reading