गांव की माटी में सौंधी खुशबू महकती हर साँसों में खेतों में मधुर राग की झनकार बैलों के घुँघरूओं में हल चलाकर आनंद बिखरता उमंग उठती फसलों में लहलहाते वृक्ष झूमती शाखाएँ पुरवाई के झोंकों में कोपलों से खिलता परिवेश गांव का घरौंदे चिड़ियाओं के कोटरों में निश्चल स्वभाव सच्चेContinue Reading

सर पर खुला आकाश पांव ज़मीं पर, ठंडे पवन के मस्त झोंके ,तन पर गिरती टप-टप बारिश की बूँदों ने रोम-रोम को पुलकित किया और प्रेरित किया मनोरम दृश्य के कुछ सुंदर भावों को पन्नों पर अंकित करने का, वही आपके समक्ष लेखनी के माध्यम से अभिव्यक्त कर रही हूँ।Continue Reading

भारत माता की जय!!! आओ झुक कर सलाम करें उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है। मैं मधु भूतड़ा, देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत 71 वें गणतंत्र दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देती हूँ। यहContinue Reading