शहीद की माँ हर आहट पर बैचैन है गाँव की पगडंडी पर बीत रही रैन है तिरंगा लिपटा पार्थिव देह अमर सपूत मुंतजिर हृदय ग़मगीन अश्रुपूरित नैन है।

राखी और आज़ादी का पर्व बड़ा ख़ास है समूचे देश में छाई है ख़ुशहाली आया सबको विश्वास है। तीन तलाक से बहनें थी त्रस्त आज़ादी दिलाई भारत के भाइयों ने मुसीबतों को किया पस्त नहीं आसां राह थी पर दिल में भाई के चाह थी दूँगा बहनों को उपहार राखीContinue Reading

सियासी भेड़ियों ने गद्दारी दिखाई है,पाकिस्तान के चैनल पर वाह-वाही मचाई है। भारतीय सेना की इज्ज़त दाँव पर लगाई है, लगता हैं रिश्ते में ये आतंकियों के भाई हैं। जनता के इस फटकार के बाद भी, कर रहे ये अपनी रुसवाई है। नमक डाल क्यूँ हमारे जख्मों पर, देशद्रोह कीContinue Reading