अमावस्या की रात में  हर देहरी दीप जगमगाता  रोशनाई से धरती का  सुन्दर स्वरुप  निखर जाता भारतीय संस्कृति का  दीपावली अद्भुत त्यौहार हर आँगन चमकता  दीप मिटाता अंधकार  जगमगाती सारी धरती  खिलखिलाता संपूर्ण संसार निराशा के तिमिर छँटते आशा का होता संचार  धन धान्य की होती वृष्टि  मिलता सबको रोज़गार Continue Reading

एक सत्य – अत्यधिक आर्थिक तंगी चोरी, लूट खसोट, ठगी,छलावा,जालसाजी़ व डकैती को जन्म देती है। इससे उबरने के लिए एक दूसरे पर विश्वास करके काम देना चाहिए। एक छोटा सा वाक्या आप सभी से सांझा करती हूँ, कई वर्षों से एक इस्त्री करने वाला युवा धोबी  है, जिसने अपनीContinue Reading