सुख के साथी सब हैं दुख में कोई नहीं आता वो जिये या मरे सोचते लोग अपना क्या जाता सुख दुख जीवन के दो पहलू हर कोई जानता मुसीबत में साथ दे वही सच्चा साथी कहलाता काल चक्र का पहिया हर किसी को है सताता क्षण भर में जीवन काContinue Reading

मरणोपरांत किया जाने वाला गरुड़ पुराण विलुप्ति के कगार पर। सनातन धर्म के आधार पर मृत्यु के बाद गरुड़ पुराण सुनने का प्रावधान बनाया गया है। वेद व्यास द्वारा रचित भागवत् के अध्याय से निकले गरुड़ पुराण में विष्णु की भक्ति और मृत्यु के बाद की यात्रा का उल्लेख कियाContinue Reading