राखी और आज़ादी का पर्व बड़ा ख़ास है समूचे देश में छाई है ख़ुशहाली आया सबको विश्वास है। तीन तलाक से बहनें थी त्रस्त आज़ादी दिलाई भारत के भाइयों ने मुसीबतों को किया पस्त नहीं आसां राह थी पर दिल में भाई के चाह थी दूँगा बहनों को उपहार राखीContinue Reading

पन्द्रह अगस्त का दिन कहता है, आज़ादी अभी अधूरी है, इस सोच – समझ वाले शख्सियत की, महायात्रा अब तो पूरी है। तू पथिक है सत्य का, तू युग पुरुष है हिन्दुत्व का, नव – जीवन का आह्वान लिए, प्रभु के निमंत्रण को स्वीकार किए, साँसे जिनकी थम गई, घड़ीContinue Reading

जो देश की सेवा करते हैं, उनकी सेवा हम कैसे कर सकते हैं? सर्वप्रथम हमारे देश के उन जॉबाज़ सैनिकों को शत्-शत् नमन हैं, जिन्होंने देश सेवा के लिए अपने प्राणों का आहूति दे दी। देश की सेवा भारतीय इतिहास का गौरव रहा है। यहाँ हर युग में अनगिनत वीरContinue Reading