अपराधों पर रोक जनमानस की सुरक्षा यही तो होती है देश की कानून व्यवस्था।  हमारी यह व्यवस्था हुई लचर तभी तो हुआ एनकाउन्टर बलात्कारियों को मिली तुरंत सजा खुशी से झूम उठा देश का प्रत्येक घर।  पर यह नहीं हमारी समस्याओं का समाधान कानून को हाथ में लेने का बुराContinue Reading

अब और नहीं रोना है,और अत्याचार नहीं सहना है, बस बहुत हुआ… अपना न्याय स्वयं करो।माँ दुर्गा ने अपनी अंतरिम शक्ति से महिषासुर का संहार किया, माँ काली का स्वरूप हो तुम। शक्तिशाली हो तुम, तभी तो तुम्हारी कोख से संतान पैदा होती है, सृष्टि का सृजन करती हो। क्यूँContinue Reading