आज़ाद परिंदों की तरह उड़ान मिले स्वयं का वज़ूद भरपूर सम्मान मिले मानव अधिकारों का हनन ज़ुल्म सितम नए परवाज़ के साथ उठाए जाते कदम राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का गठन अनेकता में एकजुटता परिभाषित प्रबंधन शिक्षा स्वास्थ आर्थिक मूलभूत जीवन सुविधा सुरक्षित माहौल भेदभाव रहित सुंदर विधा अधिकारों काContinue Reading

प्रेम और भक्ति रस से सरोबार श्री लंका की यात्रा। रामायण हमारे भारत का संस्कृत में लिखा पौराणिक अनुपम महाकाव्य है,जिसके रचयिता आदि महाकवि श्री वाल्मीकि जी हैं।इस महाकाव्य के माध्यम से रघुवंशी राजा भगवान राम जी के गौरव गाथा का विवरण है।रामायण के इस महाकाव्य में भगवान श्री रामContinue Reading