अमीरी का दंभ भरने वाले कहाँ है वो अमीर चंद पैसों के लिए जो बेच देते अपने ज़मीर आजमा कर देखो इन्हें बन जाएंगे वो फ़कीर। ग़रीब तब तक ही ग़रीब है जब तक कोसता अपना नसीब है मुफ़्त के राशन से होता लाचार ये मंजर कितना अज़ीब है आगContinue Reading

आशा है विश्वास है हाँ नादानियों का अवसाद है। बद्ध पिंजर में व्याकुल दुःख का क्यों एहसास है!  बनाया मार्ग इससे बचने का मान लेना मन से यही ख़ास है। कोरोना के भय से मुक्ति धरती पुत्रों का प्रयास है। नया सूरज निकलेगा फैलेगा प्रकाश है। बूँद बूँद के अमृतContinue Reading

कैसी ये त्रासदी, कैसा ये शहर भटक रहा मज़दूर हो रहा दर बदर घर बनाने वाला ख़ुद ही हुआ बेघर    न वर्तमान न ही भविष्य की रखता ख़बर। 

माँ पत्नी बेटी बहन और भाभी इनके हाथ में है घर की चाबी रसोई घर को मसालों से महका रही है लज़ीज़ व्यंजनों को पका कर खिला रही है सबकी फर्माइशों को पूरी करने में अपना जी जान लगा रही है।  दूसरी ओर…. पिता पति बेटा बहनोई और भैया येContinue Reading

ताश शतरंज कैरम सिक्वेंस लूडो उनो ऑनलाइन हाउजी आप सब क्या खेल रहे हो                 हमें भी तो बता दो जी…   समझदारी ख़त्म, कोरोना की बातेँ छोड़ो, घर बैठकर आओ खेले खेल ऐसा खेल खेले हम जिसमें जीत हो चाहे हार हो मित्रों और रिश्तेदारों के साथ  आनंद जिसकाContinue Reading

ख़्वाबों की होली मैंने तेरे संग खेली ख़्वाबों की होली,  दिल की बात अब तक मैंने तुमसे नहीं है बोली।  कोई रंग न लगाया कोई गुलाल न उड़ाया मनमोहक ये रूप तेरा  मैंने मन में है सजाया। मेरी ख़्वाबों से निकलो बाहर आ जाओ खेले होली,  दिल की बात अबContinue Reading

कतई ऐसा न करें विवाह का खुबसूरत समारोह, दो दिलों का एकाकीकरण, दो परिवारों का मिलन, पिता के जीवन भर की जमा पूंजी से सजाई गई खुशियों की महफिल किसके लिए? अपने रिश्तेदार, मित्र और अपने पहचान वालों के लिए, जिसमें सभी लोग शामिल होकर आनंद से झूमे, नाचे,गाये, खायेContinue Reading

भारत माता की जय!!! आओ झुक कर सलाम करें उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है। मैं मधु भूतड़ा, देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत 71 वें गणतंत्र दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देती हूँ। यहContinue Reading