परिंदों को पंख मिले गली मोहल्लों को मिली पहचान सचिन ने जब बल्ला उठाया राष्ट्र का बढ़ाया सम्मान मिट्टी से सने हाथ-पैरों ने लिखा इक नया इतिहास कहानी किस्से सपने बचपन के जीवित एहसास खेल-कूद पढ़ाई-लिखाई निश्चल बाल सुलभ मन भूल-भुलैया बंद कमरा न जाने क्यूँ खोता बचपन सूरज सेContinue Reading

दोस्त वही जो… आपके दिल के एक कोने में अपना permanent address बना जाए आपके एक फोन पर भागा भागा आ जाए एक कॉफी या आइसक्रीम के नाम पर घंटों समय बिता जाए चाय की थड़ी पर चुस्कियों के साथ मज़े ले जाए बाप के गुस्से वाले फोन से अपनेContinue Reading