सर पर खुला आकाश पांव ज़मीं पर, ठंडे पवन के मस्त झोंके ,तन पर गिरती टप-टप बारिश की बूँदों ने रोम-रोम को पुलकित किया और प्रेरित किया मनोरम दृश्य के कुछ सुंदर भावों को पन्नों पर अंकित करने का, वही आपके समक्ष लेखनी के माध्यम से अभिव्यक्त कर रही हूँ।Continue Reading

16 संस्कारों की श्रृखंला में पाँचवा हिन्दू संस्कार है नामकरण संस्कार, जिसमें ज्योतिष शास्त्र के अनुसार संतान का नाम रखा जाता है।नाम का प्रभाव स्थूल सूक्ष्म व्यक्तित्व पर गहराई से पड़ता है। नाम को सोच समझकर सूझबूझ से रखा जाना चाहिए, क्योंकि नाम की महिमा अत्यंत महत्वपूर्ण है।मात्र राम नामContinue Reading