भारत की राजभाषा हिंदी। हम सबकी मातृभाषा हिंदी। हिन्दुस्तान की पवित्र डोर हिंदी। आत्मा की सुदृढ़ जोड़ हिंदी। उन्नत शीश की बिंदी हिंदी। प्रगति का प्रतिबिंब हिंदी। संस्कृति की पहचान हिंदी। संस्कारों का सम्मान हिंदी। स्नेह प्रेम प्रीत सद्भाव हिंदी। प्रधानमंत्री मन की बात हिंदी। बोलचाल की भाषा हिंदी। हरContinue Reading

राजनीति इतनी बेबस क्यों? किसी ने क्या खूब कहा है – “यहाँ हर शासक दुर्योधन है, यहाँ न्याय न मिल पायेगा, सुनो द्रौपदी शस्त्र उठा लो, अब गोविंद न आयेगा।” राजनीति का अर्थ है राज करने वालों की नीति यानि कि राजा की नीति। जब उद्देश्य सिर्फ राज करने काContinue Reading