सात फेरे अग्नि समक्ष सात वचन इक दूजे संग रस्म जोड़ी गठबंधन सुंदर स्वरुप मन मोहक चितवन संगिनी के संग प्रेम प्रतीक जीवन सुख दुख त्रिवेणी संगम साथ हर पहर संगी साथी बन कटता आसान सफ़र पतझड़ मौसम का हर अलबेला राग संगिनी की खुशियाँ खुशबू सा अनुराग शिव अर्द्धनारीश्वरContinue Reading

सबमें अलग-अलग विशेषता है, सबकी अपेक्षाओं के अनुरूप होना सबके लिए बहुत मुश्किल है, सबको साथ लेकर चलने में अधिकतर हम झल्ला जाते हैं क्योंकि सबकी आदतें अलग है, तरीका अलग है, पर हमें राजनेताओं से सीखना चाहिए, कितने लोगों को उन्हें संभालना होता है, सबको साथ लेकर चलना होताContinue Reading