खाटू श्याम

खाटू के दरबार में, भक्तों की जयकार।
महके इत्र गुलाब से, श्याम धणी सरकार।।

भक्तों की जयकार से,गूंज उठा दरबार।
महके इत्र गुलाब से,कलयुग के दातार।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *