देश की सरहद पर खड़े  सेनानी कहलाते शूरवीर देश को स्वच्छ कर अपना दायित्व निभाते कर्मवीर शूरवीर बांध सर पर कफ़न देश की रक्षा में मर मिटता है कर्मवीर दिन रात जुट कर देश की सेवा में जगता है मातृभूमि की आज़ादी में दिया जिन्होंने बलिदान हमें बढ़ाना है उनContinue Reading

अमीरी का दंभ भरने वाले कहाँ है वो अमीर चंद पैसों के लिए जो बेच देते अपने ज़मीर आजमा कर देखो इन्हें बन जाएंगे वो फ़कीर। ग़रीब तब तक ही ग़रीब है जब तक कोसता अपना नसीब है मुफ़्त के राशन से होता लाचार ये मंजर कितना अज़ीब है आगContinue Reading

मैं भारत माता साक्षात् तुम्हारे समक्ष हूँ हृदय शूल वेदना से, आकुल व्यथित प्रत्यक्ष हूँ। मेरे वीर बेटों को चीनी ने मार दिया मेरी छाती पर दी गहरी चोट और वार किया मेरे अंगों के टुकड़े देख कर क्या तुममें अब भी अगन नहीं ज्वलित होती अब और धीर नहींContinue Reading

भारत माता की जय!!! आओ झुक कर सलाम करें उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है। मैं मधु भूतड़ा, देश भक्ति की भावना से ओत-प्रोत 71 वें गणतंत्र दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देती हूँ। यहContinue Reading

देश में हो रही धूं धूं मच रहा हाहाकार नागरिकता के बिल पर विपक्ष व मुस्लिम कर रहा प्रतिकार वोट बैंक की राजनीति ने किया बंटाधार तोड़ फोड़ कर रहे खौफ से हुआ बुखार मुस्लिम शरणार्थियों को नहीं मिलेगी नागरिकता सांपों के बिल में छुपे हुए यही उनकी वास्तविकता हिन्दू,Continue Reading

विषय – बदलता भारत विधा – संवाद नाम – मधु भूतड़ा सुबह-सुबह चाय की टेबल पर बैठे पति व पत्नी..  पति – सुनो गेट पर देखो अखबार आ गया है होगा? पत्नी – जी अभी लेकर आती हूँ।ये लीजिए आपके सुबह का आहार दिल का हार… अखबार! पति – पताContinue Reading

महात्मा गांधी महान थे, उनके नाम, चित्र और चरित्र के बारे में जितना भी कहेंगे, कम होगा। ब्रिटिशों से हमें 150 सालों में ही आज़ादी मिल जाती अगर गरम पंथियों को समर्थन किया होता, परन्तु ये तो गाँधी जी की दृढ़ शक्ति थी कि हम अहिंसा के पथ पर हीContinue Reading

                                                                          हर आँख ग़मगीन है,  हर होंठ पर धुनी रमायी है,  हर गली हो रही वीरान,  सुषमा जी की हुई विदाई है।  जन्म-मरण काल चक्र के दो चरण,  निरंतर चलता जाएगा,  आज तेरी बारी कल मेरी बारी,  जो आया है सो जाएगा।  फूल बन कर जो जिया, वो मसला जाएगा, Continue Reading

मतदान करना है…इसलिए नहीं कि मोदी, राहुल, ममता, मायावती को लाना है,इसलिए कि देश का परम सेवक लाना है, देश को आगे बढ़ाना है। मतदान करना है…इसलिए नहीं कि मात्र फर्ज़ निभाना है,इसलिए कि भारत को नयी ऊंचाईयों पर ले जाना है, नया इतिहास रचाना है। मतदान करना है…इसलिए नहींContinue Reading